मेरी गांड तरबूज की तरह हे

हेलो दोस्तों, मेरा नाम नेहा हे. मेरी यह पहेली सेक्स स्टोरी हे. इसलिए में बहोत नर्वस हु. तो आप सब मुझे संभाल लेना. और एक बात, यह स्टोरी आप नंगे होकर ही पढ़े. क्योकि बाद में आपको कपडे उतार ने का होश रहेगा या नही पता नही…. हीहीही… ओके अब शुरू करती हु.

मेरा नाम नेहा सरदेसाई हे. में २६ साल कि एक मेरिड हु. में हाउसवाइफ हु. में अमरावती महाराष्ट्र से बीलोंग करती हु. मेरी शादी को ८ महीने हो गये हे. और यही मेरी सबसे बड़ी गलती हे. क्योकि मेरे हस्बैंड इम्पोटेट हे. यानि नपुंसक. जी हा, वो मुझे सेटीस्फाय नही कर सकते.

शादी से पहले में एक सिंपल लड़की थी. पर मेरी अनसेटीस्फायड लाइफ की वजसे में अपने आप को कंट्रोल नहीं कर पाई. और खुदकी प्यास बूजाने के लिए में नेट पर पोर्न देखने लग गई. मर्दों को अलग नजरो से देखने लगी. इनता ही नही, हमारे यहा पे शादी के बाद  साड़ी ही पहेननी पडती हे. तो मेने लो नैक ब्लाउज सिलवाने शुरू किये.

मेरे बूब्स का साइज ३६ का हे. अब में बिना ब्रा के ब्लउज पहनती हु. लो नैक की वजह से मेरे आधे नंगे बूब्स तो दिख ही जाते हे. मेरे पति शर्मिंदा होने की वजह से कुछ नही कहते. ये कहानी आप हिंदी पोर्न स्टोरीज़ डॉट कॉम पर एन्जॉय कर रहे हैं.

मेने एक जॉब के लिए आपली एप्लाय किया था. और उस बिन मुझे इंटरव्यू का कोल आया. मेने वही लो नेक ब्लाउज और एक ट्रांसपेरेंट साड़ी पेहेन ली. और थोडासा मेकअप करके नीकल पड़ी. में ऑफिस पहोच गयी. थोड़ी देर बाद मेरा नंबर आया. और में केबिन में चली गई.

केबिन में एक आदमी बेठा था. वो बॉस था वहाका. वो होगा ४० साल के आसपास का. में उनके सामने की चेर पे बैठ गई. उन्होंने मेरा रिज्यूम हाथ में लिया. और वो बोले, “आप नेहा सरदेसाई, राईट?” मेने कहा, “यस सर.”

बॉस : हम्म्म्म….आपका क्वालिफिकेशन अच्चा हे.

में  : थैंक यू सर.

बॉस : क्या आपको पता हे ये जॉब किस टाइप का रहेगा?

में   :  जी हां सर. ये पर्सनल सेक्रेटरी का जॉब हे.

बॉस : गुड. तो आपको मेरी हर बात सुननी पड़ेगी.

में   :  जी हां सर. आप जो कहोगे में वो करुँगी.

बॉस : वेरी गुड, पर क्या तुम ये बात अभी प्रुव कर सकती हो?

में  : आप मुझे ऑर्डर दीजिये. में जरुर फोलो कर के दिखाउंगी सर.

बोस : रियली?

में  : जी सर. में आपको शिकायत का मौका नहीं दूंगी.

बोस : ठीक हे. आप खड़ी हो जाइये.

तो में खड़ी हो गई. वो मुझे देख रहे थे.

बॉस : अपने बारे में बताओ.

में  : मेरा नाम नेहा हे. में….

बॉस : शट उप. अपने बदन का डीसक्रिपशन दो. डिटेल में…

में एकदम से शोक हो गई. पर में मजबूर थी. मुजे प्रुव करना था की में इस जॉब के लायक हु.

में  : मेरे बूब्स का साईज ३६ हे. मेरी कमर ३४ हे.

बोस : मेने साइज नही पूछा.

में  : सॉरी सर, मेरे बूब्स बहोत सॉफ्ट हे. उनको दबाने का मजा ही कुछ और हे. मेरी गांड भी तरबूज की तरह हे. और में आगे बोल नही पा रही थी. क्योकि ऐसी बाते करते हुए में गरम हो रही थी. तभी वो बॉस मेरे करीब आये और उन्होंने कहा,

बॉस : तुम्हे ट्रेनिंग की जरुरत हे. ओके. आई विल हेल्प यू.

और उन्होंने मेरा पल्लू हटा दिया. में उनके सामने ब्लाउज में थी. मेरे बूब्स झाँक रहे थे. हाय मुझे बहोत शर्म आ रही थी. और मजा भी आ रहा था. बोस अपनी जगह जा कर बैठ गये.

बॉस : चलो अब इस ब्लाउज को उतारो.

में  : शोक हो गई.

में  : पर सर मेंने ब्रा नही पहनी.

बोस : तो?

में कुछ नही बोल पाई. और मेरे हाथ ब्लाउज की और चले गये. मेने एक एक हुक निकल दिया. और ब्लाउज नीकाल दिया. मेरे बड़े बड़े बूब्स उनके सामने नंगे हो गये. मेने जट से अपने हाथ से बूब्स को छुपाने की नाकाम कोशिश की.

बोस : ह्म्म्म. चलो अब में जो डीक्तेट करूँगा वो लिखो यह नोटपेड़ लो.

में समज गई को वो किसी तरह से मेरे हाथ मेरे बूब्स पर से निकलना चाहते थे. मेने वो पेड़ एक हाथ में लिया. और दुसरे हाथ में पेन. मेरे बूब्स अब नंगे लटक रहे हे.

मेने लिखना शुरू किया. फिर थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझे दीवार के उपरी हिसे में राखी फाइल निकलने को कहा. में आगे बढ़ी. मेने दोनों हाथ ऊपर करके वो फाइल निकाली. और उन्हें दे दी. और फिर एक बार हाथ से अपने आप को ढक लिया.

बॉस : हम्म्म्म. अब मेरे साइड की चेर पे बेठ जाओ. में उनकी साइड की चेर पे बैठ गयी. उन्होंने मेरे हाथो को निचे किया.

बॉस : गुड में तुम्हे ये जॉब दूंगा.

में  : थैंक यू सर.

बॉस : तुम्हे आते ही अपना ब्लाउज उतारना होगा. और हाँ, ये हाथोसे छुपाना नहीं है.

में  : जी सर.

बॉस : याद रहे ये बस इन्टरव्यू था. काम पर और मेहनात करनी पड़ेगी.

में  : जी में करुँगी सर.

बॉस : अपनी चूत सेव कर के रखना. तुम्हे ब्रा और पेंटी पहन ने की परमिशन नहीं रहेगी.

में  : जी सर.

बॉस : गुड, अगर तुमने काम अच्छा किया तो तुम्हे प्रमोशन जल्द  ही मिल जायेंगा. बस तुम्हे मेरी जरुरतो का ख्याल रखना हे, ओके?

में  : यस सर.

बॉस : यू में गो नाव.

में  : थैंक यू सर.

फिर मेने अपना ब्लाउज पहना और में वह से चली गई. मुझे बहोत ख़ुशी महसूस हो रही थी. मेने घर जाते ही मेरे सारे कपडे उतार दिए. और मेरी गीली चूत को सहलाना शुरू किया. अह्ह्ह बहोत दिनों के बाद इतनी गीली हुई थी. और बूब्स को दबा दबा कर लाल कर दिया. और मेरे निप्पल तो एकदम कड़क हो गये थे.

में तो जॉब के सपने देखने लग गई थी. केबिन में बॉस के सामने टॉपलेस बैठ ने के बारे में ही सोच कर और तड़प उठी. अब तो बस बॉस को खुश करके चूत और गांड चुदवाने के सपने देखने लग गई. फिर हर बार की तरह ककुम्बर से जूस निकाला.

तो ये था मेरा इन्टरवियू. बॉस ने सही कहा था. वो तो बस एक डेमो था. जब जॉब शुरू हो गया तब मुझे बहोत मेहनत करनी पड़ी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *